Go Corona Go
Spread the love

शिवांगी यादव द्वारा पुस्तक समीक्षा

पुस्तक :     गो कोरोना गो

कवि :        दिनकर चोपड़ा

प्रकाशन :   बुक रिवर्स लखनऊ

मूल्य :       140/-

कविता संग्रह गो कोरोना गो में कवि ने अपने काव्यों को दो खंडो में विभाजित किया है। इस काव्य संग्रह में कुल 79 कविताएँ प्रकाशित की गई है|कोरोना महामारी ने देश में आतंक मचा रखा है| इस महामारी से बचने और इस महामारी को देश से नीकालने पर कवी ने अपने विचार अपनी कविताओं के माध्यम से प्रस्तुत की है | इसमें महानगरों की समस्या, खालीपन आदि का व्याख्यान किया गया है|

खंड क में कवी ने कोरोना से सम्बंधित कविताये प्रस्तुत की जैसे कि सोच और वायरस, खालीपन, गो कोरोना गो , वायरस को फांसी, अजब-गजब, अलसाई सुभह,  साल आते है,  घटने से पहले, एक मसीहा, मोक्ष, कारावास, उड़ान, उलझता रहा,सफर, सपनो से मिलना हॉग, ज़िद, नई सोच आदि शामिल है| कवी ने बड़ी ही खूबसूरती से कोरोना पर अपनी सोचा को व्यक्त किया है। चोपड़ा जी ने एक कविता क्रांति में बड़ी ही खूबसूरती से सभी धर्मो का वर्णन किया है।

खंड ख में दिनकर जी के द्वारा गम ज़ख्म परेशानी सब मिलेगा, नफरत से खुद को रखना, दिल है धड़कन बन जाऊंगा, आवाज़ अपनी उठानी नहीं आती,  थोड़ी सी खुसी बचा रखी है आदि सम्मिलित है। चोपड़ा जी की कविता ज़िद में उन्होंने कोरोना महामारी से लड़ने की ज़िद को दर्शाया है वही शहर का मौसम भटक रहा कविता में चीन द्वारा फैलाये गए कोरोना संक्रमण का वर्णन किया है।

गो कोरोना गो पुस्तक को अमेज़न पर 5/5 रेटिंग प्राप्त हुई है. इस पुस्तक को काफी लोगो ने सराहा है। इस पुस्तक ने काफी लोगो को मार्गदर्शन प्रदान किया है, कविताएँ काफी दिलचस्प है। 

गो कोरोना गो पुस्तक, मै सभी पुस्तक प्रेमियों को सुझाना चाहूंगी। इन कविताओं को पढ़ने के बाद आपमें एक नई स्फूर्ति आ जाएगी। कैसे चीन से इस कोरोना महामारी का जन्म हुआ, कैसे इसने पुरे देश में अपना आतंक मचाया, कैसे इससे निज़ात पाया जा सकता है, कैसे इस महामारी के दौर में हम खुद को सकारात्मक रख सकते है सभी बड़ी ही खूबसूरती से कविता के माध्यम से प्रस्तुत है.

आशा करती हु आप सब को दिनकर जी के द्वारा प्रस्तुत गो कोरोना गो पुस्तक प्रसंद आएगी। आप सभी इस पुस्तक को ऊपर दिए गए अमेज़न और प्रकाशन के लिंक के माध्यम से खरीद सकते है।

धन्यवाद !

One thought on “Book Review: GO CORONA GO (गो कोरोना गो)”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *